Awareness Image


एडॉप्शन से हम सबको जुड़ना है


एडॉप्शन एक खुबसूरत अनुभव है जिसके द्वारा हम अपनी इच्छाओं और ज़रूरतों को पीछे रख कर एक बच्चे से रिश्ता जोड़ लेते हैं.

हमारा विश्वास है कि एक सुखी परिवार हर बच्चे का अधिकार है. भारत में 6 करोड़ निराश्रित बच्चे हैं और लगभग 3 करोड़ निस्संतान दम्पति. फिर भी सालाना केवल 4000 से कम बच्चे गोद लिए जाते हैं. एक ज़िम्मेदार नागरिक होने के नाते हमारे आगे एक बहुत बड़ा कार्य है जिसके द्वारा गोद लेने की प्रणाली में सुधार हो सके और हर बच्चे को घर मिल सके. .

यह तभी मुमकिन है जब हम गोद लेने के बारे मैं अपने स्कूलों में बच्चों को बताएं, फिल्मों के द्वारा जागरूकता पैदा करें, सकारात्मक भाषा का प्रयोग करें, माता पिता को सहूलियतें दें और एक अनुकूल वातावरण बनायें. हमारा दायित्व है कि हम एडॉप्शन को एक गौरवपूर्ण पहचान बनायें.



लम्बी से लम्बी यात्रा एक कदम से शुरू होती है. एडॉप्शन की प्रणाली में बदलाव लाने के लिए ज़रूरी नहीं कि हमें खुद एक बच्चे को गोद लेना हो. हम ऐसे बहुत से काम कर सकते हैं जिससे जो परिवार एडॉप्शन के ज़रिये पनप रहें हैं, उनका रास्ता आसान हो सके और हम भी एक विकसित समाज की तरह अपना दयित्व निभा सकें.

शुरुआत के लिए इतना ही काफी है कि आप निम्न संकल्प लें और अपने परिजनों, साथियों व् सह्कर्मियों को भी यह संकल्प लेने के लिए प्रोत्साहित करें. इस संकल्प को प्रिंट करें, फ्रेम करें या फिर अपने कार्य स्थल पर शोभान्वित करें – जिससे आपकी प्रतिबद्धता उजागर हो और अन्य लोग भी एडॉप्शन की नयी सोच का हिस्सा बन पायें.

Pledge